भारत ऐसा देश है जहां हर गली, हर नुक्कड़, हर चौराहे से निकलती हैं अनगिनत कहानियां. लेकिन उन्हें अपनी भाषा, यानि हिंदी में आप तक पहुंचाने के लिए आ गया है गज़ब अड्डा. अनोखी कहानियां, इंडियन और इंटरनेशनल वायरल कंटेंट, ज्ञानवर्धक आर्टिकल्स, न्यूज़, हंसी-मज़ाक, वीडियोस, और बहुत कुछ आपको मिलेगा ग़ज़ब अड्डा में. तो हर दिन जानिए कुछ नया, कुछ अलग, ग़ज़ब अड्डा के ज़रिये. आइये, पढ़िए, शेयर कीजिये और हमारे साथ बनाइये ग़ज़बपोस्ट को इंडिया की सबसे ग़ज़ब हिंदी वेबसाइट.

इस पत्थर को कोई नहीं गिरा सकता- जाने क्या है खास

दक्षिण भारत के महाबलीपुरम में 1200 साल पुराना एक पत्थर

0 79

दक्षिण भारत के महाबलीपुरम में 1200 साल पुराना एक पत्थर लोगां यहां आने वाले लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना रहता है. यह पत्थर बड़े ही अजीब ढंग से यहां रखा हुआ है. इसे देखने से ऐसा लगता है कि अगर जरा सा धक्का दे दिया जाए तो यह अभी लुढ़क पडे़गा, लेकिन ऐसा नहीं है. इस पत्थर की चौड़ाई 5 मीटर और उंचाई 20 है.

सन् 1908 में इस पत्थर पर उस समय के मद्रास के गवर्नर आर्थर की नजर पड़ी तो उनको लगा कि यह पत्थर किसी बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकता है, इसलिए उन्होंने इस पत्थर को उसके स्थान से हटवाने के लिए 7 हाथियों से खिंचवाया पर यह पत्थर अपनी जगह से टस से मस नहीं हुआ. ग्रेविटी के नियमों को चुनौती देते हुए यह पत्थर एक ढलान वाली पहाड़ी पर 45 डिग्री के कोण पर बिना लुढ़के टिका हुआ है. लोग इस पत्थर को ‘कृष्ण की मक्खन गेंद’ भी कहते हैं क्योंकि उनका मानना है कि यह पत्थर मक्खन की गेंद है जिसको कृष्ण के अपनी बाल्य अवस्था में नीचे गिरा दिया था.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like